UroGreen Capsuels

Home/Aushadhi/UroGreen Capsuels

UroGreen Capsuels

160.00

Net Volume : 30 Capsules

विशेष :

 कैप्सूल मॆं Giletine होता है, जो शाकाहारी लोगों के लिए उपयुक्त नहीं है । हमारी संस्था की सभी कैप्सूल सम्पूर्णत: शाकाहारी है, इसलिए शाकाहारी व्यक्ति भी निर्भयता से इसका सेवन कर सकता है ।

मूत्र संस्थान के रोगों के लिए आयुर्वेद में बहुत सारी औषधियाँ बताई गई है । किडनी की क्षमता को बढाकर मूत्राप्रवृति को नियमित करना अत्यंत आवश्यक होता है । इसमें कुछ दोष होते है तो मूत्र में जलन, stone, बार-बार मूत्र आना, मूत्र का पीलापन, मूत्र का कम या अटक-अटक के आना आदि समस्याएँ होती है । “यूरोग्रीन कैप्सूल” त्रिविक्रम रस, टंकणक्शार, फिटकरी, शिलाजित, हजरतयहुल भस्म आदि औषधियों का उत्तम मिश्रण तैयार करके बनाई गई है, जिसका हमारे चिकित्सालय में हजारो रोगियों पर प्रयोग किया गया है । बहुत सारे वैद्योंने इस औषधि का प्रयोग करके अपने सकारात्मक अनुभव बताए है । यह औषधि मूत्रगत सभी रोगों में उपयोगी सिद्ध हुई है ।

Ayurveda has prescribed various medicines for diseases and problems related to urinary system. It is very important to regulate and improve functioning of kidneys for regulating urine tendency. If there is any flaw in this system, it causes many ailments like stone, inflammation in urine, stone, frequent urination, yellow urine, less or infrequent flow of urine,etc. Urogreen capsule is a fine combination of trivikram ras, tankankshaar, phitkari, shilajit, hajratyahul bhasm and many such medicines, which have been prescribed to hundreds of affected patients. Many vaidyas have shared their positive experience with successful results of this medicine. It has been proved useful for most problems of the urinary system.

Category:

Description

CONTAINS : Each 500 mg Veg capsule

Chandraprabha Vati: 140 mg

Eladi Churna: 100 mg

Trivikram Ras: 40 mg

Shuddha Tankankshar: 40 mg

Hajrul Yahood Bhasma: 80 mg

Shuddha Shilajit: 40 mg

Gokharu Ext. (Tribulus terrestros): 60 mg

Lambdi beej kwath (Celosia argentea) : Q.S.

लाभ :

  • किडनी स्टोन मूत्रमार्ग के रोग, पथरी (Stone) मूत्रमार्ग में जलन इत्यादि रोगोंमें उपयोगी है ।
  • मूत्रमार्ग में अवरोध को दूर करके मूत्र को साफ करता है ।
  • किडनी की सफाई करने की कार्यक्षमता को बढाकर मूत्रप्रवृति को नियमित करती है ।
  • मूत्रकृच्छ (रुक-रुककर मूत्र का आना) में यह औषध बहुत उपयोगी सिद्ध हुआ है ।
  • क्षार को दूर करके सम्पूर्ण मूत्रसंस्थान का शोधन करता है ।
  • प्रमेह रोग में यूरोग्रीन कैप्सूल उपयोगी है ।

सेवनविधि :

सुबह-दोपहर-शाम १-१ कैप्सूल पानी के साथ लें ।

सेवनयोग्य व्यक्ति :

उपरोक्त रोग से पीड़ित कोई भी व्यक्ति इसका सेवन कर सकता है ।

Products Key Feature(s) : UTI problems

AyurvedVidhan :  Aryabhishak, Rastantra Sar, Ashtang Hraday (Marshi Vagbhatt)

Who Can Consume : Anyone who has any of these ailments

Who Can Not Consume : Pregnancy

Additional information

Weight 0.032 kg
Dimensions 4.8 × 6.2 cm