Sugar Killer Powder

Home/Aushadhi/Sugar Killer Powder

Sugar Killer Powder

150.00

Net Volume : 100 Gms.

सभी प्रकार के प्रमेह मे उपयोगी, ब्लड सुगर तथा युरिन सुगर दोनो मे उपयोगी..

आयुर्वेद के ग्रंथों में २० प्रकार के प्रमेह का वर्णन किया गया है । चरकसूत्र में “प्रमेहोनुसंगीणाम्‍” कहकर प्रमेह रोग को आनुसंगीक बताया है । प्रमेह मुख्यता से अजीर्ण के कारण होनेवाला रोग है, इसलिए शर्करा के अजीर्ण को दूर करते ही प्रमेह या मधुमेह दूर हो जाता है । आयुर्वेद ने सर्वप्रथम विस्तृत रुप से प्रमेह का वर्णन, उत्पति का कारण, चिकित्सा एवं विभिन्न औषधियों का उस पर प्रभाव इत्यादि के बारे में बताया है । अनेक औषधिओं पर संशोधन कार्य करने के बाद कुछ औषधियों का प्रभाव मूत्रशर्करा में और रक्तशर्करा में विशेषरुप से पाया गया है । ऐसि औषधियों में विजयसार, मेथी, सप्तपर्णी, जामुनबीज, गुडमार, निम्ब, बंग भस्म इत्यादि मुख्य है । ऐसी औषधियों को विशिष्ट रुप से मिश्रित करके संस्कृति आर्य गुरुकुलम्‍ यह चूर्ण बना रहा है । पूज्य गुरुजी विश्वनाथजी की पद्धति के अनुसार बनाया गया यह चूर्ण Barly गोमूत्रक्षार टैबलेट के साथ लेने से हजारों मधुमेह के रोगीयों को इस गंभीर एवं जटील रोग से छुटकारा मिला है । इसके साथ sugar cure drops  एवं sugar cure capsule  का सेवन विशेष रुप से लाभदायी  होता है । Ayurveda texts have mentioned 20 types of diabetes.Charak sutra says “प्रमेहोनुसंगीणाम्‍” which means disbetes is ancilliary. It is primarily caused due to indigestion. That is why, when indigestion of sugar is cured, diabetes gets cured as well. Ayurveda describes diabetes in detail, its cause, treatment and effect of various medicines on it,etc. After researching on various medicines, some have been found very effective specially for blood sugar and urin sugar. In such medicines, vijaysaar, methi, saptparni, jaamunbeej (blackberry seeds), gudmaar, nimb, banga bhasm are the main ones. These medicins are combined together using a special method and this sugar cure powder is made. Made with the unique method prescribed by pujya guruji Vishvanath ji, use of this powder along with barly gomotrakshaar tablet has given results to thousands of suar patients and they have cured their diabetes. Use of Sugar Cure Drops and Sugar Cure Capsule alongwith this churna is specially beneficial.

Category:

Description

CONTAINS :

Mamejava Churna: 10 gm

Aamalaki Rasayan: 10 gm

Haldi: 10 gm

Jamunbeej Churna: 10 gm

Bang Bhasma: 5 gm

Yashtimadhu: 10 gm

Methi Churna: 10 gm

Kali Mirch Churna: 10 gm

Kutaj Churna: 10 gm

Bilva Patra Churna: 10 gm

Vijaysar Churna: 5 gm

लाभ :

  • इस चूर्ण के नियमित सेवन से रक्तशर्करा या मूत्रशर्करा कम हो जाती है ।
  • शरीर में प्राकृतिक रुप से insulin उत्पन्न होने लगता है ।
  • शर्करा का पाचन करने की शक्ति बढ़ती है, इसलिए शर्करा पर नियंत्रण होकर मात्र १ महिने में ही परिणाम दिखना शुरु हो जाता है ।
  • पाचन शक्ति को सुधारकर यह चूर्ण अनेक रोगों में लाभदायी होता है ।
  • प्राक्रुतिक रुप से कडुवा रस इसमें होने से यह चूर्ण कृमि, चर्मरोग एवं अन्य रोगों से रक्षण करता है ।
  • Type-1 डायबीटीस में भी इसका प्रभाव देखा गया है ।

सेवनविधि :

सुबह-शाम १-१ चम्मच खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लें ।

सेवनयोग्य व्यक्ति :

१ साल से अधिक आयुवाला कोई भी व्यक्ति इसका सेवन कर सकता है ।

Who can consume : Anyone above the age of 1 years can consume this churna

Additional information

Weight 0.60 kg
Dimensions 11 × 17 cm