RishiMuni Dry Fruit Chyawanprash

Home/Aushadhi, Immunity & Memory Boosters/RishiMuni Dry Fruit Chyawanprash

RishiMuni Dry Fruit Chyawanprash

800.00

आयुर्वेद के विभिन्न ग्रंथों में च्यवनप्राश का वर्णन किया गया है । च्यवनप्राश आयुर्वेद का सब से पुराना और प्रसिद्ध टॉनिक है । च्यवनप्राश के सेवन से पूरे साल का स्वास्थ्य बना रहता है, किन्तु उस च्यवनप्राश में खड़ी शक्कर होने के कारण डायबीटीस के रोगी इसका सेवन करने में  झिझकते हैं तथा इसमें मधु का उपयोग होने के कारण जैन समाज के लोग भी इसके सेवन में परहेज करते हैं । इसके विकल्प में अर्थात्‍ खड़ी शक्कर और मधु के स्थान पर स्टीवीया का उपयोग करके संस्कृति आर्य गुरुकुलम्‍ ने ड्रायफ्रूट च्यवनप्राश बनाया है, जिसका मधु रहित होने के कारण जैन लोग तथा खड़ी शक्कर रहित होने के कारण डायबीटीस के रोगी भी सेवन कर सकते हैं, साथ में ड्रायफ्रूट पोषण के लिए डाला है । इसके कारण यह च्यवनप्राश स्वादिष्ट और शक्तिवर्धक है ।

Chyavanprash has been mentioned in various granthas of Ayurveda. It is the oldest and most popular tonic of Ayurveda. Consumptions of chyavanprash helps maintain good health throughout the year. But regular chyavanprashas are reluctantly used by diabetics due to present of organic shugar, also, Jain community also hesitates to consume because of presence of honey. As an alternative to organic sugar and honey, Sanskruti Arya Gurukulam has made dryfruit chyavanprash using stevia (the natural sweetner) and dryfruits have been added for additional nutrition. Diabetics and Jains can safely consume it as it doesn’t contain honey or organic sugar. It also makes the chyavanprash delicious and energy boosting as well.

Description

लाभ :

  • ड्रायफ्रूट च्यवनप्राश के नियमित सेवन से शक्ति का संचय होता है और स्वास्थ्य अच्छा रहता है ।
  • रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ती है और विविध संक्रामक रोगों से रक्षण मिलता है ।
  • ड्रायफ्रूट च्यवनप्राश बाल, युवा और वृद्ध सभी के लिए उपयुक्त है ।
  • स्टीवीया के कारण प्राकृतिक उर्जा एवं शक्ति मिलती है ।
  • डायबीटीस के रोगी एवं जैन वर्ग के लिए यह अमूल्य उपहार है ।
  • यह बहुत स्वादिष्ट होने के कारण हर कोई व्यक्ति इसका सेवन आसानी से कर सकता है ।

सेवनयोग्य व्यक्ति :

१ साल से अधिक आयुवाला कोई भी व्यक्ति इसका सेवन कर सकता है ।

सेवनविधि :

सुबह-शाम १-१ चम्मच देशी गाय के दूध के साथ लें ।

१२ साल तक की आयुवाले बच्चों को आधी मात्रा में औषध दें ।

Net Volume : 500 Gms.

CONTAINS :

Aamalki, Gaughrit, Til Tail, Pippli, Vanshlochan, Nagkeshar, Trijaat, Shyonak tvak, Laghu Panchmool , Kakadashingi, Munakka, Pippli, Giloy, Harad, Kharaiti, Bhumi aamalaki, Jivanti, Karpur, Nagarmotha, Pushkarmool, Kauaa todi, Mashparni, Mudagparni, Vidarikand, Punarnava, Kamal gatta, Choti Ilayachi, Agar, Chandan, Ashta varg, Stevea, Dry Fruit, Suvarn Bhasma, Rajat Bhasma, Kesar

Who can consume : Anyone above one year of age can use it

Additional information

Weight 0.780 kg
Dimensions 8.5 × 12.5 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “RishiMuni Dry Fruit Chyawanprash”

Your email address will not be published.