HB Capsules (Hemoglobin)

Home/Aushadhi/Ayurvedic Medicines/HB Capsules (Hemoglobin)

HB Capsules (Hemoglobin)

150.00

Net Volume : 30 Capsules

विशेष :

कैप्सूल मॆं Giletine होता है, जो शाकाहारी लोगों के लिए उपयुक्त नहीं है । हमारी संस्था की सभी कैप्सूल सम्पूर्णत: शाकाहारी है, इसलिए शाकाहारी व्यक्ति भी निर्भयता से इसका सेवन कर सकता है ।

‘ रक्तं सर्वशरीरस्थं जिवस्याधारमुत्तमम्’ । अर्थात् रक्त सारे शरीर में फैला हुआ है और रक्त ही जीव का उत्तम आधार है । आधुनिक चिकित्सा के अनुसार भी रक्त से शरीर का पोषण होता है । आयुर्वेद के ग्रंथो में जिस तरह रक्त में लोहादि तत्वों की उपस्थिति बताई गई है, उसी तरह आधुनिक चिकित्सा में भी रक्त में iron, copper, आदि घटक पाये गये हैं । रक्त के सभी घटकों में haemoglobin (HB) प्रमुख कार्यकारी घटक है । विभिन्न रक्त स्त्रावक बीमारीयाँ, आघात, शस्त्र क्रिया आदि के कारण haemoglobin की कमी हो जाती है । आयुर्वेद में हीमोग्लोबिन को रंजक पित्त कहा जाता है । रंजक पित्त (HB) बढानेवाली औषधियों में कांतलौह भस्म, नवायस लौह, सुवर्णमाक्षिक भस्म, कासीस भस्म इत्यादि श्रेष्ठ है, इन सभी भस्मों का मिश्रण  करके “HB कैप्सूल” तैयार किया गया है ।

Our body is made from minute koshas or sheathes. All the koshas are nourished by blood. ‘ रक्तं सर्वशरीरस्थं जिवस्याधारमुत्तमम्‍ ’ । meaning blood is spread in all aparts of the body and it is the best base for a living being. Modern medicine also describes nourishment of body from blood. Like Ayurveda has told about presence of elements like iron in blood, modern medicine also talks about presence of iron, copper and other metallic elements in the blood. Haemoglobin or HB is the key component of blood. Various kind of haemorrhage, injuries, surgical procedues etc cause deficiency of haemoglobin. HB is called ‘ranjak pitta’ in Ayurveda. Among various medicines to increase ranjak pitta, kantalauh bhasm, navaayas lauh, suvarnamaakshik bhasm, kasees bhasm are considered the best. HB capsule has been prepared with a combination of these bhasmas. These capsules can be used by all whether young or old, men or women.

Description

CONTAINS : Each 500 mg Veg capsule

Kasis Bhasma: 100 mg

Kant Loh Bhasm: 50 mg

Mandoor Bhasma: 100 mg

Suvarna Makshik Bhasma: 100 mg

Navayas Loh: 50 mg

GiloyGhan: 100 mg

लाभ :

  • शरीर में रक्त की वृद्धि करता है और हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाता है ।
  • रक्त में लौह की मात्रा बढाकर शक्ति प्रदान करता है ।
  • रंजकपित्त जो खून में होता है उसकी शुद्धि करके रक्त को शुद्ध बनाता है ।
  • कांतलौह जैसी बहुमूल्य भस्म का उपयोग होने से यह RBC (Red Blood Cells) को बढ़ाता है ।
  • स्त्रियों  में माहवार के दिनों  रक्त का अधिक क्षय होने के कारण उसे अशक्ति आ जाती है, उसमें यह कैप्सूल शारीरीक दुर्बलता को दूर करके शक्ति और स्फूर्ति का संचार करता है ।
  • गर्भावस्था में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढाने के लिए यह उत्तम औषधि है ।

सेवनविधि :

सुबह-दोपहर-शाम १-१ कैप्सूल पानी के साथ लें ।

Who can consume : Anyone above one year of age can use it.

Additional information

Weight 0.032 kg
Dimensions 4 × 4.5 × 7 cm